Kaal in Hindi – काल किसे कहते है, प्रकार, भेद और उदाहरण

Hindi Grammar के इस भाग मे आप जानेंगे Kaal Ke Bhed, Kaal Ka Udahran, Kaal In Hindi. आप मे से कई लोग हिंदी मे इस पाठ मे confuse रहते है। तो इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको Kaal hindi मे कोई समस्य नहीं होगी।

इसी के साथ काल के बारे मे इसी पोस्ट मे मैने जानकारी डाली है, जिससे आपको यह जानकारी मिल सके की काल शब्द कौन-कौन से होते है। तो चलिए जानते है, काल किसे कहते हैं?

kaal ki paribhasha kaal Ke Bhed

Table of Contents

Kaal In Hindi

काल की परिभाषा:- काल उस क्रिया के रूप को कहते है, जिससे उसके करने या होने के समय के बारे मे पूर्तया या अपूर्णता का बोध होता है। काल को English मे Tense कहते है।

Kaal Ke Bhed

हिंदी व्याकरण मे काल के कुल तीन भेद होते है-

  • वर्तमान काल (Present Tense)
  • भूतकाल (Past Tense)
  • भविष्यत् काल (Future Tense)

वर्तमान काल – Vartman Kaal In Hindi

क्रिया के जिस रूप के द्वारा वर्तमान समय के बारे मे पता चले और होना पाया जाए, उसे ही वर्तमान काल यानी Present Tense कहते है।

वर्तमान काल example in hindi
  • वर्षा हो रही है।
  • उसने गेंद खेली है।
  • वह घर जा रहा है।
  • हम कपड़े पहन रहे हैं।
  • मोहन पढ़ रहा है।
वर्तमान काल के भेद

वर्तमान काल के कुल छः भेद होते है-

  1. सामान्य वर्तमान
  2. संदिग्ध वर्तमान
  3. अपूर्ण वर्तमान
  4. पूर्ण वर्तमान
  5. तात्कालिक वर्तमान
  6. सम्भाव्य वर्तमान

सामान्य वर्तमान काल

क्रिया का वह रूप जिसके द्वारा वर्तमान काल मे क्रिया का होना पाया जाता है, उसे सामन्य वर्तमान काल कहते है।

या फिर, क्रिया के वह रूप जिससे यह पता चले की कार्य की पूर्णता और अपूर्णता का पता न चले उसे सामान्य वर्तमान काल कहते है और जिन वाक्यों में ता है, ती है, ते है, ता हूँ आदि अंत मे आते हैं उसे सामान्य वर्तमान काल कहते है। जैसे-

  • वह आग से खाना बनाती है।
  • रमेश कहानी लिखता है।
  • सुरेश नल से नहाता है।
  • गरिमा कविता लिखती है।
  • चिडि़या आसमान में उड़ती है।

संदिग्ध वर्तमान काल

क्रिया का वह रूप जिसके द्वारा वर्तमान काल में क्रिया के होने में सन्देह होना पाया जाता है, उसे संदिग्त वर्तमान काल कहते है। इसमे अंत मे गा, गे गी होता है। जैसे-

  • राम पढ़ता होगा।
  • माँ खाना बना रही होगी।
  • वह ऊपर पढ़ रहा होगा।
  • माँ खाना बना रही होगी।

अपूर्ण वर्तमान काल

क्रिया के जिस रूप के द्वारा वर्तमान काल में क्रिया की अपूर्णता का बोध पाया जाता है, वहाँ उसे अपूर्ण वर्तमान काल कहते है। इसके अंत में रहा है, रहे है, रही है, रहा हूँ आदि शब्द आते है। जैसे-

  • राहुल गेंद खेल रहा है।
  • अनीता आ रही है।
  • वह पढ़ रहा है।

पूर्ण वर्तमान काल

क्रिया के जिस रूप के द्वारा वर्तमान काल मे कार्य का पूर्ण होना पाया जाता है या फिर सिद्ध होता है, उसे पूर्ण वर्तमान काल कहते है। जैसे-

  • उन्होंने फल खाएं है।
  • सीता ने किताब पढ़ी है।
  • राम आया है।

तात्कालिक वर्तमान काल

क्रिया का वह रूप जिसके द्वारा यह पता चले कि क्रिया वर्तमान काल मे हो रही है, उसे तात्कालिक वर्तामान काल कहते है। जैसे-

  • हम कपड़े पहन रहे हैं।
  • मैं गा रहा हूँ।
  • वह जा रहा है।
  • मैं पढ़ रहा हूँ।
  • वह जा रहा है।
  • हम कपड़े पहन रहे हैं।

सम्भाव्य वर्तमान काल

क्रिया का वह रूप जिसके द्वारा यह पता चले कि वर्तमान काल मे कार्य पूरा होने की सम्भावना रही है, उसे सम्भाव्य वर्तमान काल कहते है। जैसं-

  • वह लौटा है।
  • राम नहाया हो।
  • वह लिखता हो।

भूतकाल – BhootKaal Ki Paribhasha

क्रिया के जिस रूप से कार्य की समाप्ति का बोध होता है, उसे भूतकाल कहते हैं। दूसरे शब्दों में, जिस क्रिया से बीते हुए समय का बोध होता है, उसे भूतकाल यानी Past Tense कहते हैं।

भूतकाल example in hindi
  • पहले मैं लखनऊ में पढ़ता था।
  • यदि मैं आता तो वह चला जाता।
  • श्याम ने गाया होगा।
  • कुसुम घर गयी।
  • राम ने खाना बनाया था।
भूतकाल के भेद
  1. सामान्य भूतकाल
  2. आसन्न भूतकाल
  3. अपूर्ण भूतकाल
  4. पूर्ण भूतकाल
  5. संदिग्ध भूतकाल
  6. हेतुहेतुमद् भूतकाल

सामान्य भूतकाल

क्रिया के जिस रूप के द्वारा बीते हुए समय का निश्चितत ज्ञान नहीं होता है, उसे सामान्य भूतकाल कहते है। इसके अंत में आ, ई, ए, था, थी, थे आते हैं। जैसे-

  • कुसुम घर गयी।
  • श्याम गया।
  • गाँधी जी ने भाषाण दिया।

आसन्न भूतकाल

क्रिया के जिस रूप से क्रिया के व्यापार का समय आसन्न यानी निकट ही समाप्त समझा जाए, उसे आसन्न भूतकाल कहते है। इसके अंत मे चुका है, चुके है, चुकी है आदि आते है। जैसे-

  • उसने आम खाया है।
  • सीता गा चुकी है।
  • वह अभी सोकर उठी हूँ।

अपूर्ण भूतकाल

क्रिया के जिस रूप से यह पता चले कि क्रिया भूतकाल में हो रही थी, लेकिन उसकी समाप्ति का पता नहीं चलता है, उसे अपूर्ण भूतकाल कहते है। इसके अंत में रहा था, रही थी, रहे थे आदि आता है। जैसे-

  • राहुल खाना खा रहा था।
  • गिटार बज रहा था।
  • वह हॉकी खेल रहा था।

पूर्ण भूतकाल

क्रिया के जिस रूप से बीते समय के कार्य की समाप्ति का पूर्ण बोध होता है, उसे ही पूर्ण भूतकाल कहते है। इसके अंत में था, थी, थे, चूका था, चुकी थी, चुके थे आदि आता है। जैसे-

  • मैं खाना का चुका था।
  • वह सो चुकी थी
  • रेशमा गाना गा चुकी थी।

संदिग्ध भूतकाल

क्रिया के जिस रूप से बीते हुए समय में कार्य के पूर्ण होने का या फिर न होने में संदेह की स्थिति होती है, उसे संदिग्ध भूतकाल कहते है। इनके अंत में गा, गे, गी आदि आता है। जैसे-

  • श्याम ने गाया होगा।
  • रमेंश ने नहाया होगा।
  • वह सो रहा होगा।

हेतुहेतुमद् भूतकाल

क्रिया के जिस रूप से यह पता चले कि क्रिया भूतकाल में होने वाली थी परन्तु किसी कारणवश न हो पाई, उसे ही हेतुहेतुमद् भूतकाल कहते हैं। जैसे-

  • यदि मैं आता तो वह चला जाता।
  • यदि वह पढ़ता तो परीक्षा में उत्तीर्ण हो जाता।
  • यदि श्याम ने पत्र लिखा होता तो वह अवश्य आता।

भविष्यत काल – Bhavishyat Kaal Ki Paribhasha

क्रिया के जिस रूप के द्वारा भविष्य मे घटित होने वाली क्रिया का बोध होता है, उसे भविष्यत् काल यानी Future Tense कहते है।

भविष्यत् काल example in hindi
  • खाना कुछ देर में बन जायेगा।
  • वह आये तो मैं जाऊँ।
  • वह कमाए तो मैं खाऊँ।
  • वह घर जायेगा।
भविष्यत् काल के भेद

इसके तीन भेद होते है-

  1. सामान्य भविष्यत्
  2. सम्भाव्य भविष्यत्
  3. हेतुहेतुमद् भविष्यत्

सामान्य भविष्यत् काल

क्रिया के जिस रूप के द्वारा भविष्य मे होने वाले कार्य के बारे मे जानकारी हो अथवा यह व्यक्त हो कि क्रिया सामान्यतः भविष्य में ही होगी, उसे ही सामान्य भविष्यत् काल कहते है। जैसे-

  • राहुल गाना गाएगा।
  • वह कल आएगा।
  • मै सुबह जाऊंगा।

सम्भाव्य भविष्यत् काल

क्रिया के जिस रूप से कार्य होने की सम्भावना का बोध होता है, उसे सम्भाव्य भविष्यत् कहते है। जैसे-

  • शायद चोर पकड़ा जाए।
  • सम्भव है कि वह कल आएगा।
  • हो सकता है कि मैं कल वहाँ जाऊँ।

हेतुहेतुमद् भविष्यत् काल

क्रिया के जिस रूप से भविष्य में एक समय में एक ही क्रिया का होना दूसरी क्रिया पर निर्भर होता है, उसे हेतुहेतुमद् भविष्यत् काल कहते है। जैसे-

  • वह कमाए तो मैं खाऊँ।
  • राम गाए तो मैं बताऊँ।
  • यदि छुट्टियाँ होंगी तो मैं आगरा जाउँगा।

तो Kaal In Hindi मे आपको तीने कालों तथा उनके भेदों के बारे मे पूरी जानकारी परिभाषा तथा उदाहरण के साथ दे दी गई है।

Kaal Worksheet

kaal kise kahate hai
kaal wordsheet
kaal in hindi

Kaal In Hindi PDF Download

Kaal PDF Download करने के लिए आपको नीचे दी गई लिंक पर क्लिक करके download करना है। इसके बाद आप आसानी से भी बाद मे इसको कभी-भी पढ़ सकता है।

इसे भी पढ़ें –

Kaal In Hindi FAQ

वर्तमान काल के कितने प्रकार होते हैं?

वर्तमान काल के प्रकार नीचे दिए गए हैं-

सामान्य वर्तमान काल
अपूर्ण वर्तमान काल
पूर्ण वर्तमान काल
संदिग्ध वर्तमान काल
तात्कालिक वर्तमान काल
संभाव्य वर्तमान काल

भविष्य काल किसे कहते हैं?

क्रिया के जिस रूप से भविष्य मे घटित होने वाली क्रिया का बोध होता है, उसे भविष्यत् काल कहते है।

वर्तमान काल किसे कहते हैं?

क्रिया के जिस रूप से वर्तमान समय के बारे मे पता चले और होना पाया जाए, उसे ही वर्तमान काल कहते है।

काल के कितने भेद होते है?

काल के कुल तीन भेद होते है-

1) वर्तमान काल
2) भूतकाल
3) भविष्य काल

वर्तमान काल में कौन सा लकार है?

वर्तमान काल में लट् लकार का प्रयोग होता है। क्रिया के जिस रूप से कार्य का वर्तमान समय में होना पाया जाता है, उसे वर्तमान काल कहते हैं, जैसे- राम घर जाता है – रामः गृहं गच्छति

काल किसे कहते है?

काल क्रिया के रूप को कहते है, जिसके द्वारा उसके करने या होने के समय के बारे मे पूर्तया या अपूर्णता का बोध हो, उसे काल कहते है।

तो आपको kaal In Hindi की पोस्ट की जानकारी कैसी लगी तथा मैने इस पोस्ट मे kaal Ke Bhed, kaal Ki Paribhasha आदि के बारे मे भी जरूर बताऐ। बाकी, नीचे कमेंट करके जरूर पूछें। धन्यवाद…

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *