|

Article 283 In Hindi | Article 283 Of Indian Constitution In Hindi | अनुच्छेद 283 क्या है

इसमे आपको Article 283 Of Indian Constitution In Hindi के बारे मे बताया गया है। अगर आपको Article 283 In Hindi मे जानकारी नहीं है कि अनुच्छेद 283 क्या है, तो इस पोस्ट मे आपको पूरी जानकारी मिलेगी।

अनुच्छेद हमारे भारतीय संविधान मे दिए गए है, जिसमे हर एक प्रावधान को एक अंक दिया गया है, जिसमे इसमे Article 283 के बारे मे भी बताया गया है। भारत के हर व्यक्ति को Indian Constitution Articles के बारे मे जानकारी जरूर से जरूर होनी चाहिए ही।

Article 283 In Hindi

अनुच्छेद 283 – संचित निधियों, आकस्मिकता निधियों और सार्वजनिक खातों में जमा धन की अभिरक्षा, आदि
(1) भारत की संचित निधि और भारत की आकस्मिकता निधि की अभिरक्षा, ऐसी निधियों में धन का भुगतान, उसमें से धन की निकासी, ऐसी निधि में जमा किए गए धन को छोड़कर अन्य सार्वजनिक धन की अभिरक्षा भारत सरकार, भारत के सार्वजनिक खाते में उनका भुगतान और ऐसे खाते से धन की निकासी और उपरोक्त मामलों से जुड़े या सहायक सभी मामलों को संसद द्वारा बनाए गए कानून द्वारा विनियमित किया जाएगा, और जब तक इस संबंध में प्रावधान ऐसा नहीं है बनाया गया है, राष्ट्रपति द्वारा बनाए गए नियमों द्वारा विनियमित किया जाएगा।

(2) किसी राज्य की संचित निधि और किसी राज्य की आकस्मिकता निधि की अभिरक्षा, ऐसी निधियों में धन का भुगतान, उसमें से धन की निकासी, ऐसी निधियों में जमा किए गए लोगों के अलावा अन्य सार्वजनिक धन की अभिरक्षा, द्वारा प्राप्त या राज्य सरकार की ओर से, राज्य के सार्वजनिक खाते में उनका भुगतान और ऐसे खाते से धन की निकासी और पूर्वोक्त मामलों से संबंधित या सहायक सभी मामलों को राज्य के विधानमंडल द्वारा बनाए गए कानून द्वारा विनियमित किया जाएगा, और , जब तक कि इस संबंध में प्रावधान नहीं किया जाता है, राज्य के राज्यपाल द्वारा बनाए गए नियमों द्वारा विनियमित किया जाएगा।

Indian Constitution Part 12 articles

Article 283 Of Indian Constitution In English

Article 283 – Custody, etc of Consolidated Funds, Contingency Funds and moneys credited to the public accounts
(1) The custody of the Consolidated Fund of India and the Contingency Fund of India, the payment of moneys into such Funds, the withdrawal of moneys therefrom, the custody of public moneys other than those credited to such Funds received by or on behalf of the Government of India, their payment into the public account of India and the withdrawal of moneys from such account and all other matters connected with or ancillary to matters aforesaid shall be regulated by law made by Parliament, and, until provision in that behalf is so made, shall be regulated by rules made by the President.

(2) The custody of the Consolidated Fund of a State and the Contingency Fund of a State, the payment of moneys into such Funds, the withdrawal of moneys therefrom, the custody of public moneys other than those credited to such Funds, received by or on behalf of the Government of the State, their payment into the public account of the State and withdrawal of moneys from such account and all other matters connected with or ancillary to matters aforesaid shall be regulated by law made by the Legislature of the State, and, until provision in that behalf is so made, shall be regulated by rules made by the Governor of the State.

नोट- इसमे कही सारी बाते भारतीय संविधान से ही ली गई है। यानी यह संविधान के शब्द है।.

अनुच्छेद 283 मे क्या है

वाद-विवाद संक्षेप – भाग IX पंचायत द्वारा कूर्ग प्रतिनिधि।

अन्य महत्वपूर्ण अनुच्छेद

Article 276 In Hindi
Article 277 In Hindi
Article 278 In Hindi
Article 279 In Hindi
Article 280 In Hindi
Article 281 In Hindi
Article 282 In Hindi
Article 273 In Hindi
Article 274 In Hindi
Article 275 In Hindi

Final Words

आपको यह Article 283 Of Indian Constitution In Hindi की जानकारी कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताएं। बाकी मैने Article 283 In Hindi & English दोनो भाषाओं मे बताया है जैसे कि Anuched 283 Kya Hai? अगर Article Of Indian Constitution से संबंधित कोई प्रश्न हो तो आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते है, बाकी पोस्ट को दोस्तो मे शेयर जरूर करें।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *