|

Article 228 Of Indian Constitution In Hindi | Article 228 In Hindi | अनुच्छेद 228 क्या है

इसमे आपको Article 228 Of Indian Constitution In Hindi के बारे मे बताया गया है। अगर आपको Article 228 In Hindi मे जानकारी नहीं है कि अनुच्छेद 228 क्या है, तो इस पोस्ट मे आपको पूरी जानकारी मिलेगी।

अनुच्छेद हमारे भारतीय संविधान मे दिए गए है, जिसमे हर एक प्रावधान को एक अंक दिया गया है, जिसमे इसमे Article 228 के बारे मे भी बताया गया है। भारत के हर व्यक्ति को Indian Constitution Articles के बारे मे जानकारी जरूर से जरूर होनी चाहिए ही।

Article 228 In Hindi

अनुच्छेद 228 – कुछ मामलों का उच्च न्यायालय में स्थानांतरण
यदि उच्च न्यायालय संतुष्ट हो जाता है कि उसके अधीनस्थ न्यायालय में लंबित मामले में इस संविधान की व्याख्या के संबंध में कानून का एक महत्वपूर्ण प्रश्न शामिल है, जिसका निर्धारण मामले के निपटान के लिए आवश्यक है, तो वह मामले को वापस ले सकता है और हो सकता है
(ए) या तो मामले को स्वयं निपटाएं, या
(बी) कानून के उक्त प्रश्न का निर्धारण करेगा और मामले को उस न्यायालय को लौटाएगा जहां से मामले को वापस लिया गया है और ऐसे प्रश्न पर अपने निर्णय की एक प्रति के साथ, और उक्त अदालत उसके प्राप्त होने पर मामले को निपटाने के लिए आगे बढ़ेगी। इस तरह के निर्णय के साथ पुष्टि।

INDIAN CONSTITUTION PART 6 ARTICLE

Article 228 Of Indian Constitution In English

Article 228 – Transfer of certain cases to High Court
If the High Court is satisified that a case pending in a court subordinate to it involves a substantial question of law as to the interpretation of this Constitution the determination of which is necessary for the disposal of the case, it shall withdraw the case and may
(a) either dispose of the case itself, or
(b) determine the said question of law and return the case to the court from which the case has been so withdrawn together with a copy of its judgment on such question, and the said court shall on receipt thereof proceed to dispose of the case in confirmity with such judgment.

नोट- इसमे कही सारी बाते भारतीय संविधान से ही ली गई है। यानी यह संविधान के शब्द है।.

अनुच्छेद 228 मे क्या है

वाद-विवाद संक्षेप – एक सदस्य ने सवाल किया कि क्या उच्च न्यायालय के लिए अनिवार्य रूप से सभी वापस लिए गए मामलों की पूरी तरह से सुनवाई करना आवश्यक था। उन्होंने सुझाव दिया कि न्यायालय के पास कानून के महत्वपूर्ण प्रश्न पर निर्णय लेने का विकल्प होना चाहिए और फिर उसे इस निर्णय के अनुरूप निपटाने के लिए निचली अदालत को वापस करना चाहिए। मसौदा समिति के अध्यक्ष ने तब उच्च न्यायालय को यह विकल्प प्रदान करने के लिए मसौदा अनुच्छेद को पूरी तरह से प्रतिस्थापित करने का प्रस्ताव दिया। कुछ सदस्यों ने इस संशोधन पर चिंता जताई। एक सदस्य ने तर्क दिया कि मसौदा अनुच्छेद अनावश्यक था और इससे वादियों के लिए लागत और देरी में वृद्धि होगी। मसौदा समिति के एक सदस्य ने तर्क दिया कि उच्च न्यायालय को कानून के अन्य संबंधित प्रश्नों पर निर्णय किए बिना संवैधानिक कानून के महत्वपूर्ण प्रश्न पर निर्णय लेना मुश्किल होगा। अंत में सभा ने सभापति के संशोधन को स्वीकार करने का निर्णय लिया OnlineCasinos-India.com

अन्य महत्वपूर्ण अनुच्छेद

Article 226 In Hindi
Article 227 In Hindi
Article 218 In Hindi
Article 219 In Hindi
Article 220 In Hindi
Article 221 In Hindi
Article 222 In Hindi
Article 223 In Hindi
Article 224 In Hindi
Article 225 In Hindi

Final Words

आपको यह Article 228 Of Indian Constitution In Hindi की जानकारी कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताएं। बाकी मैने Article 228 In Hindi & English दोनो भाषाओं मे बताया है जैसे कि Anuched 228 Kya Hai? अगर Article Of Indian Constitution से संबंधित कोई प्रश्न हो तो आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते है, बाकी पोस्ट को दोस्तो मे शेयर जरूर करें।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *