|

Article 201 In Hindi | Article 201 Of Indian Constitution In Hindi | अनुच्छेद 201 क्या है

इसमे आपको Article 201 Of Indian Constitution In Hindi के बारे मे बताया गया है। अगर आपको Article 201 In Hindi मे जानकारी नहीं है कि अनुच्छेद 201 क्या है, तो इस पोस्ट मे आपको पूरी जानकारी मिलेगी।

अनुच्छेद हमारे भारतीय संविधान मे दिए गए है, जिसमे हर एक प्रावधान को एक अंक दिया गया है, जिसमे इसमे Article 201 के बारे मे भी बताया गया है। भारत के हर व्यक्ति को Indian Constitution Articles के बारे मे जानकारी जरूर से जरूर होनी चाहिए ही।

Article 201 In Hindi

अनुच्छेद 201 – विधेयक विचार के लिए सुरक्षित
जब कोई विधेयक राज्यपाल द्वारा राष्ट्रपति के विचार के लिए आरक्षित किया जाता है, तो राष्ट्रपति या तो यह घोषणा करेगा कि वह विधेयक पर सहमति देता है या वह उस पर से सहमति रोकता है: बशर्ते कि, जहां विधेयक धन विधेयक नहीं है, राष्ट्रपति उसे निर्देश दे सकता है राज्यपाल विधेयक को सदन या राज्य के विधानमंडल के सदनों को, जैसा भी मामला हो, इस तरह के संदेश के साथ लौटाएगा जैसा कि अनुच्छेद 200 के पहले परंतुक में उल्लेख किया गया है और जब कोई विधेयक इस प्रकार वापस किया जाता है, तो सदन या सदन इस तरह के संदेश की प्राप्ति की तारीख से छह महीने की अवधि के भीतर उस पर पुनर्विचार करेंगे और, यदि इसे सदन या सदनों द्वारा संशोधन के साथ या बिना संशोधन के फिर से पारित किया जाता है, तो इसे राष्ट्रपति के विचार के लिए फिर से प्रस्तुत किया जाएगा। आर्थिक मामला।

INDIAN CONSTITUTION PART 6 ARTICLE

Article 201 Of Indian Constitution In English

Article 201 – Bill reserved for consideration
When a Bill is reserved by a Governor for the consideration of the President, the President shall declare either that he assents to the Bill or that he withholds assent therefrom: Provided that, where the Bill is not a Money Bill, the President may direct the Governor to return the Bill to the House or, as the case may be, the Houses of the Legislature of the State together with such a message as it mentioned in the first proviso to Article 200 and, when a Bill is so returned, the House or Houses shall reconsider it accordingly within a period of six months from the date of receipt of such message and, if it is again passed by the House or Houses with or without amendment, it shall be presented again to the President for his consideration Procedure in Financial Matters.

नोट- इसमे कही सारी बाते भारतीय संविधान से ही ली गई है। यानी यह संविधान के शब्द है।.

अनुच्छेद 201 मे क्या है

वाद-विवाद संक्षेप – कोई वाद-विवाद नहीं हुआ।

अन्य महत्वपूर्ण अनुच्छेद

Article 196 In Hindi
Article 197 In Hindi
Article 198 In Hindi
Anuched 199 Hindi Me
Article 200 In Hindi
Article 191 In Hindi
Anuched 192 Hindi Me
Article 193 In Hindi
Article 194 In Hindi
Article 195 In Hindi

Final Words

आपको यह Article 201 Of Indian Constitution In Hindi की जानकारी कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताएं। बाकी मैने Article 201 In Hindi & English दोनो भाषाओं मे बताया है जैसे कि Anuched 201 Kya Hai? अगर Article Of Indian Constitution से संबंधित कोई प्रश्न हो तो आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते है, बाकी पोस्ट को दोस्तो मे शेयर जरूर करें।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *