जातिवाचक संज्ञा परिभाषा एवं उदाहरण: Jati Vachak Sangya In Hindi

Jati Vachak Sangya in Hindi: इस पोस्ट के द्वारा आप यहां पर जातिवाचक संज्ञा की परिभाषा और उदाहरण (Jati Vachak Sangya) के बारे में विस्तार से बताया गया है। हर कक्षा की परीक्षा में पूछा जाने वाले यह एक विशेष महत्वपूर्ण सवाल है। यहां पर हम जातिवाचक संज्ञा को निम्न स्टेप्स में जानेंगे।

Advertisements
jati Vachak Sangya In Hindi

जातिवाचक संज्ञा किसे कहते हैं? – Jativachak Sangya Kise Kahate Hain

जातिवाचक संज्ञा की परिभाषा- वह संज्ञा शब्द जिनसे किसी एक ही प्रकार की अनेक वस्तुओं का बोध होता है या कि वे संज्ञा शब्द जिनसे पूरी जाति का बोध होतो है, उसे जातिवाचक संज्ञा कहते है। जैसे- घर, पहाड़, शहर, पशु, नदी आदि।

साधारण शब्दों में समझे तो वे शब्द जो किसी वस्तु, व्यक्ति या फिर किसी स्थान की सम्पूर्ण जाति का बोध कराते हैं, उन शब्दों को जातिवाचक संज्ञा कहा जाता है।

Advertisements

यदि कोई जातिवाचक संज्ञा का शब्द किसी व्यक्ति के लिए आएगा तो वह उस व्यक्ति का बोध न करवा के पूरी जाति का बोध कराता है और यदि किसी स्थान के लिए प्रयुक्त होता है, तो वह स्थान के साथ ही उसकी संपूर्ण जाति का बोध कराता। ठीक इसी प्रकार किसी वस्तु के लिए प्रयुक्त जातिवाचक संज्ञा का शब्द उस वस्तु का बोध ना कराके उसकी सम्पूर्ण जाति का बोध कराता है।

जातिवाचक संज्ञा के उदाहरण (Jativachak Sangya Examples in Hindi)

  • वस्तुओं के नाम – कुर्सी, पुस्तक, कलम, चाकू, मकान, मेज, सोफा इत्यादि।
  • व्यवसायों, कार्यों, पदों आदि नाम – माँ, मामा, डॉक्टर, मजदूर, अध्यापक, मन्त्री, अध्यक्ष, वकील, भाई, किसान, नेता इत्यादि।
  • प्राकृतिक तत्त्वों के नाम – वर्षा, बिजली, तूफान, ओला, वृष्टि, हिमपात, ज्वालामुखी, आँधी इत्यादि।
  • पशु-पक्षिओं के नाम – बैल, हिरण, तोता, मोर, मैना, कुत्ता, शेर, गधा, लोमड़ी, मेमना, हाथी, जिराफ, बुलबुल इत्यादि।

गाय: गाय शब्द सम्पूर्ण जावनरों में गाय जाति का बोध कराता है, इसलिए गाय जातिवाचक संज्ञा का शब्द है। गाय शब्द बोलने से काली, सफ़ेद, पहाड़ी, विदेशी, देशी, जर्सी, हरियाणवी आदि सभी गाय की प्रजाति का बोध होता है।

शहर: शहर शब्द से किसी विशेष स्थान का बोध न होकर विश्व के सभी शहरों का बोध हो रहा है तो यह एक स्थान सूचक जातिवाचक संज्ञा का उदाहरण है जैसे – मुंबई, जयपुर, देहरादून आदि।

स्कूल: यह शब्द सभी स्कूल का एक साथ बोध करा रहा है अर्थात् यह भी किसी एक विशेष स्थान का बोध ना करवाकर सभी स्कूल का बोध करा रहा है। इसलिए यह जातिवाचक संज्ञा के अंतर्गत आता है।

नदी: नदी जलश्रोतों में से एक जाति का बोध करा रहा है। मतलब नदी शब्द से किसी एक नदी का बोध न होकर विश्व की सभी नदियों का बोध होता है, इसलिए नदी शब्द जातिवाचक संज्ञा का उदाहरण है।

लड़का: लड़के शब्द से सभी जगह के और सही प्रकार के लड़कों का बोध होता है अर्थात् मनुष्य जाती में लड़का विशेष उम्र का बोध करवा रहा है, इसलिए लड़का शब्द जातिवाचक संज्ञा में आता है। जैसे – राम, श्याम, अनिल, सुनील आदि।

जातिवाचक संज्ञा के उदाहरण वाक्य

  • खिलौनों से बच्चे खेल रहे हैं।
  • पक्षी पेड़ पर चहचहाट कर रहे हैं।
  • बिल्ली को जानवरों की मौसी कहा जाता है।
  • मानव सबसे अधिक बुद्धिमान प्राणी है।
  • गाय का दूध मीठा होता है।
  • पक्षियों को क़ैद करना पाप है।
  • कुत्ता पालतू जानवर है।
  • मुझे बिल्ली पालना पसंद है।
  • मुझे ट्रेन का सफर पसंद है।
  • डाँक्टर भगवान का रूप होते हैं।
  • महिलाएं बहुत बात करती हैं।
  • पुस्तकें मनुष्य की सच्ची मित्र होती हैं।
  • तालाब बहुत प्रदूषित है।
  • यह नदी बहुत प्रदूषित हो रही है।
  • नदियों का जल अब साफ़ नहीं रहा।
  • किसान देश का आधार हैं।

जातिवाचक संज्ञा और व्यक्तिवाचक संज्ञा में अंतर

व्यक्ति वाचक संज्ञाजाति वाचक संज्ञा
व्यक्ति वाचक संज्ञा सदैव एकवचन होती है।जाति वाचक संज्ञा सदैव बहुवचन होती है।
व्यक्तिवाचक संज्ञा सदैव अर्थवान नहीं होती।जातिवाचक संज्ञा सदैव अर्थवान होती है।
व्यक्ति वाचक संज्ञा में जिसके बारे में बात हो रही है वह एक ही होता है।जाति वाचक संज्ञा में किसी प्राणी, वस्तु या स्थान विशेष के वर्ग की बात होती है।
जैसे: मोहन, रामायण, गीता, राधा, लाल किला, जयपुर, मुम्बई, राजस्थान, गोवा, रमेश इत्यादि।जैसे: बिल्ली, मानव, गाय, पक्षी, कुत्ता, डॉक्टर, महिलाएं, पुस्तकें, नदियाँ, किसान, मनुष्य इत्यादि।

Jati Vachak Sangya Worksheet

Jati vachak sangya की नोट्स PDF download करने के लिए आप नीचे दिए download button पर क्लिक करके आप इसके free मे download कर सकते है।

इसे भी पढ़े –

तो आपको JATI Vachak sangya In Hindi और jati vachak sangya ki paribhasha की जानकारी आपको कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताएं तथा पोस्ट को शेयर भी जरूर करें।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *