|

Article 293 In Hindi | Article 293 Of Indian Constitution In Hindi | अनुच्छेद 293 क्या है

इसमे आपको Article 293 Of Indian Constitution In Hindi के बारे मे बताया गया है। अगर आपको Article 293 In Hindi मे जानकारी नहीं है कि अनुच्छेद 293 क्या है, तो इस पोस्ट मे आपको पूरी जानकारी मिलेगी।

अनुच्छेद हमारे भारतीय संविधान मे दिए गए है, जिसमे हर एक प्रावधान को एक अंक दिया गया है, जिसमे इसमे Article 293 के बारे मे भी बताया गया है। भारत के हर व्यक्ति को Indian Constitution Articles के बारे मे जानकारी जरूर से जरूर होनी चाहिए ही।

Article 293 In Hindi

अनुच्छेद 293 – राज्यों द्वारा उधार लेना
(1) इस अनुच्छेद के प्रावधानों के अधीन, किसी राज्य की कार्यकारी शक्ति का विस्तार भारत के राज्यक्षेत्र के भीतर राज्य की संचित निधि की सुरक्षा पर ऐसी सीमा के भीतर उधार लेने तक है, यदि कोई हो, जो समय-समय पर नियत की जाए। ऐसे राज्य के विधानमंडल द्वारा कानून द्वारा और ऐसी सीमा के भीतर गारंटी देने के लिए, यदि कोई हो, जैसा कि तय किया जा सकता है।
(2) भारत सरकार, ऐसी शर्तों के अधीन, जो संसद द्वारा बनाए गए किसी कानून द्वारा या उसके तहत निर्धारित की जा सकती है, किसी भी राज्य को ऋण दे सकती है या, जब तक कि अनुच्छेद 292 के तहत निर्धारित किसी भी सीमा को पार नहीं किया जाता है, में गारंटी दे सकता है किसी भी राज्य द्वारा लिए गए ऋणों के संबंध में, और ऐसे ऋणों को करने के प्रयोजन के लिए आवश्यक कोई राशि भारत की संचित निधि पर प्रभारित की जाएगी।

(3) कोई राज्य भारत सरकार की सहमति के बिना कोई ऋण नहीं ले सकता है यदि अभी भी ऋण का कोई हिस्सा बकाया है जो भारत सरकार या उसकी पूर्ववर्ती सरकार द्वारा राज्य को दिया गया है, या उसके संबंध में जिसकी गारंटी भारत सरकार या उसकी पूर्ववर्ती सरकार द्वारा दी गई हो।
(4) खंड (3) के तहत एक सहमति ऐसी शर्तों, यदि कोई हो, के अधीन दी जा सकती है, जैसा कि भारत सरकार अध्याय III संपत्ति, अनुबंध, अधिकार, दायित्व, दायित्व और सूट लागू करने के लिए उपयुक्त समझ सकती है।

Indian Constitution Part 12 articles

Article 293 Of Indian Constitution In English

Article 293 – Borrowing by States
(1) Subject to the provisions of this article, the executive power of a State extends to borrowing within the territory of India upon the security of the Consolidated Fund of the State within such limits, if any, as may from time to time be fixed by the Legislature of such State by law and to the giving of guarantees within such limits, if any, as may be so fixed.
(2) The Government of India may, subject to such conditions as may be laid down by or under any law made by Parliament, make loans to any State or, so long as any limits fixed under Article 292 are not exceeded, give guarantees in respect of loans raised by any State, and any sums required for the purpose of making such loans shall be charged on the Consolidated Fund of India.

(3) A State may not without the consent of the Government of India raise any loan if there is still outstanding any part of a loan which has been made to the State by the Government of India or by its predecessor Government, or in respect of which a guarantee has been given by the Government of India or by its predecessor Government.
(4) A consent under clause ( 3 ) may be granted subject to such conditions, if any, as the Government of India may think fit to impose CHAPTER III PROPERTY, CONTRACTS, RIGHTS, LIABILITIES, OBLIGATIONS AND SUITS.

नोट- इसमे कही सारी बाते भारतीय संविधान से ही ली गई है। यानी यह संविधान के शब्द है।.

अनुच्छेद 293 मे क्या है

वाद-विवाद संक्षेप – सभी संशोधन बिना किसी बहस या चर्चा के स्वीकार किए गए। मसौदा अनुच्छेद, संशोधित के रूप में उसी दिन अपनाया गया था।

अन्य महत्वपूर्ण अनुच्छेद

Article 286 In Hindi
Article 287 In Hindi
Article 288 In Hindi
Article 289 In Hindi
Article 290 In Hindi
Article 291 In Hindi
Article 292 In Hindi
Article 283 In Hindi
Article 284 In Hindi
Article 285 In Hindi

Final Words

आपको यह Article 293 Of Indian Constitution In Hindi की जानकारी कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताएं। बाकी मैने Article 293 In Hindi & English दोनो भाषाओं मे बताया है जैसे कि Anuched 293 Kya Hai? अगर Article Of Indian Constitution से संबंधित कोई प्रश्न हो तो आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते है, बाकी पोस्ट को दोस्तो मे शेयर जरूर करें।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *