|

Article 262 In Hindi | Article 262 Of Indian Constitution In Hindi | अनुच्छेद 262 क्या है

इसमे आपको Article 262 Of Indian Constitution In Hindi के बारे मे बताया गया है। अगर आपको Article 262 In Hindi मे जानकारी नहीं है कि अनुच्छेद 262 क्या है, तो इस पोस्ट मे आपको पूरी जानकारी मिलेगी।

अनुच्छेद हमारे भारतीय संविधान मे दिए गए है, जिसमे हर एक प्रावधान को एक अंक दिया गया है, जिसमे इसमे Article 262 के बारे मे भी बताया गया है। भारत के हर व्यक्ति को Indian Constitution Articles के बारे मे जानकारी जरूर से जरूर होनी चाहिए ही।

Article 262 In Hindi

अनुच्छेद 262 – अंतर्राज्यीय नदियों या नदी घाटियों के जल से संबंधित विवादों का न्यायनिर्णयन
(1) संसद कानून द्वारा किसी अंतर्राज्यीय नदी या नदी घाटी के जल के उपयोग, वितरण या नियंत्रण के संबंध में किसी विवाद या शिकायत के न्यायनिर्णयन के लिए उपबंध कर सकती है।
(2) इस संविधान में किसी भी बात के होते हुए भी, संसद कानून द्वारा यह प्रदान कर सकती है कि न तो सर्वोच्च न्यायालय और न ही कोई अन्य न्यायालय ऐसे किसी भी विवाद या शिकायत के संबंध में अधिकार क्षेत्र का प्रयोग करेगा जैसा कि खंड (1) राज्यों के बीच समन्वय में निर्दिष्ट है।

Indian Constitution Part 11 articles

Article 262 Of Indian Constitution In English

Article 262 – Adjudication of disputes relating to waters of inter State rivers or river valleys
(1) Parliament may by law provide for the adjudication of any dispute or complaint with respect to the use, distribution or control of the waters of, or in, any inter State river or river valley.
(2) Notwithstanding anything in this Constitution, Parliament may by law provide that neither the Supreme Court nor any other court shall exercise jurisdiction in respect of any such dispute or complaint as is referred to in clause ( 1 ) Co ordination between States.

नोट- इसमे कही सारी बाते भारतीय संविधान से ही ली गई है। यानी यह संविधान के शब्द है।.

अनुच्छेद 262 मे क्या है

वाद-विवाद संक्षेप – प्रस्तावित मसौदा अनुच्छेद ने केंद्रीय संसद को अंतर-राज्यीय जल विवादों का न्यायनिर्णयन करने का अधिकार दिया। इसके अलावा, इसने केंद्रीय संसद को इस तरह के विवादों से निपटने के लिए सर्वोच्च न्यायालय को रोकने के लिए एक कानून बनाने की अनुमति दी। एक सदस्य ने आग्रह किया कि ऐसी शक्ति राष्ट्रपति के पास होनी चाहिए न कि केंद्रीय संसद को। इस प्रस्ताव पर आगे कोई चर्चा नहीं हुई।

अन्य महत्वपूर्ण अनुच्छेद

Article 256 In Hindi
Article 257 In Hindi
Article 258 In Hindi
Article 259 In Hindi
Article 260 In Hindi
Article 261 In Hindi
Article 252 In Hindi
Article 253 In Hindi
Article 254 In Hindi
Article 255 In Hindi

Final Words

आपको यह Article 262 Of Indian Constitution In Hindi की जानकारी कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताएं। बाकी मैने Article 262 In Hindi & English दोनो भाषाओं मे बताया है जैसे कि Anuched 262 Kya Hai? अगर Article Of Indian Constitution से संबंधित कोई प्रश्न हो तो आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते है, बाकी पोस्ट को दोस्तो मे शेयर जरूर करें।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *