|

Article 231 In Hindi | Article 231 Of Indian Constitution In Hindi | अनुच्छेद 231 क्या है

इसमे आपको Article 231 Of Indian Constitution In Hindi के बारे मे बताया गया है। अगर आपको Article 231 In Hindi मे जानकारी नहीं है कि अनुच्छेद 231 क्या है, तो इस पोस्ट मे आपको पूरी जानकारी मिलेगी।

अनुच्छेद हमारे भारतीय संविधान मे दिए गए है, जिसमे हर एक प्रावधान को एक अंक दिया गया है, जिसमे इसमे Article 231 के बारे मे भी बताया गया है। भारत के हर व्यक्ति को Indian Constitution Articles के बारे मे जानकारी जरूर से जरूर होनी चाहिए ही।

Article 231 In Hindi

अनुच्छेद 231 – दो या दो से अधिक राज्यों के लिए एक सामान्य उच्च न्यायालय की स्थापना
(1) इस अध्याय के पूर्ववर्ती प्रावधानों में किसी बात के होते हुए भी, संसद कानून द्वारा दो या दो से अधिक राज्यों के लिए या दो या अधिक राज्यों और एक संघ राज्य क्षेत्र के लिए एक सामान्य उच्च न्यायालय स्थापित कर सकती है।
(2) ऐसे किसी उच्च न्यायालय के संबंध में,
(ए) राज्य के राज्यपाल के लिए अनुच्छेद 217 में निर्देश का अर्थ उन सभी राज्यों के राज्यपालों के संदर्भ के रूप में लगाया जाएगा जिनके संबंध में उच्च न्यायालय अधिकार क्षेत्र का प्रयोग करता है;
(बी) राज्यपाल को अनुच्छेद 227 में निर्देश, अधीनस्थ न्यायालयों के लिए किसी भी नियम, प्रपत्र या तालिकाओं के संबंध में, उस राज्य के राज्यपाल के संदर्भ के रूप में माना जाएगा जिसमें अधीनस्थ न्यायालय स्थित हैं; तथा
(सी) अनुच्छेद 219 और 229 में राज्य के संदर्भ को उस राज्य के संदर्भ के रूप में माना जाएगा जिसमें उच्च न्यायालय की अपनी प्रमुख सीट है: बशर्ते कि अगर ऐसी प्रमुख सीट केंद्र शासित प्रदेश में है, तो अनुच्छेद 210 और में संदर्भ 229 राज्यपाल, लोक सेवा आयोग, विधानमंडल और राज्य की संचित निधि को क्रमशः राष्ट्रपति, संघ लोक सेवा आयोग, संसद और भारत की संचित निधि के संदर्भ में माना जाएगा।

INDIAN CONSTITUTION PART 6 ARTICLE

Article 231 Of Indian Constitution In English

Article 231 – Establishment of a common High Court for two or more States
Article 231(1) Notwithstanding anything contained in the preceding provisions of this Chapter, Parliament may by law establish a common High Court for two or more States or for two or more States and a Union territory.
Article 231(2) In relation to any such High Court,
(a) the reference in article 217 to the Governor of the State shall be construed as a reference to the Governors of all the States in relation to which the High Court exercises jurisdiction;
(b) the reference in article 227 to the Governor shall, in relation to any rules, forms or tables for subordinate courts, be construed as a reference to the Governor of the State in which the Subordinate Courts are situate; and
(c) the reference in articles 219 and 229 to the State shall be construed as a reference to the State in which the High Court has its principal seat: Provided that if such principal seat is in a Union territory, the references in articles 210 and 229 to the Governor, Public Service Commission, Legislature and Consolidated Fund of the State shall be construed respectively as references to the President, Union Public Service Commission, Parliament and Consolidated Fund of India.

नोट- इसमे कही सारी बाते भारतीय संविधान से ही ली गई है। यानी यह संविधान के शब्द है।.

अनुच्छेद 231 मे क्या है

वाद-विवाद संक्षेप – संविधान सभा में इस अनुच्छेद पर अपने वर्तमान स्वरूप में बहस नहीं हुई थी। इसे संविधान (7वां संशोधन) अधिनियम, 1956 द्वारा प्रतिस्थापित किया गया था।

अन्य महत्वपूर्ण अनुच्छेद

Article 226 In Hindi
Article 227 In Hindi
Article 228 In Hindi
Article 229 In Hindi
Article 230 In Hindi
Article 221 In Hindi
Article 222 In Hindi
Article 223 In Hindi
Article 224 In Hindi
Article 225 In Hindi

Final Words

आपको यह Article 231 Of Indian Constitution In Hindi की जानकारी कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताएं। बाकी मैने Article 231 In Hindi & English दोनो भाषाओं मे बताया है जैसे कि Anuched 231 Kya Hai? अगर Article Of Indian Constitution से संबंधित कोई प्रश्न हो तो आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते है, बाकी पोस्ट को दोस्तो मे शेयर जरूर करें।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *